"उद्देश्य" के अवतरणों में अंतर

[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
(' 1. हिन्दी, संस्कृत तथा अन्य भाषाओं की पाण्डुलिपियों...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 
पंक्ति 1: पंक्ति 1:
  
1. हिन्दी, संस्कृत तथा अन्य भाषाओं की पाण्डुलिपियों का संग्रहण, संरक्षण एवं अध्ययन, विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति, साहित्य एवं इतिहास से संबंधित।न शोध संस्थान की स्थापना हुई।<br />
+
'''1'''. हिन्दी, संस्कृत तथा अन्य भाषाओं की पाण्डुलिपियों का संग्रहण, संरक्षण एवं अध्ययन, विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति, साहित्य एवं इतिहास से संबंधित।न शोध संस्थान की स्थापना हुई।<br />
2. विलुप्त एवं नष्ट होती हुई सांस्कृतिक विरासत जिसमें पाण्डुलिपियाँ, पुरातात्विक सामग्री, कलाकृतियाँ सम्मिलित हैं (विशेषतः ब्रज क्षेत्र की) को बचाना।<br />
+
'''2'''. विलुप्त एवं नष्ट होती हुई सांस्कृतिक विरासत जिसमें पाण्डुलिपियाँ, पुरातात्विक सामग्री, कलाकृतियाँ सम्मिलित हैं (विशेषतः ब्रज क्षेत्र की) को बचाना।<br />
3. भारतीय विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति एवं इतिहास में अनुसंधान को प्रोत्साहन।<br />
+
'''3'''. भारतीय विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति एवं इतिहास में अनुसंधान को प्रोत्साहन।<br />
4. पाण्डुलिपियों, पुरातात्विक महत्व की सामग्री, सामाजिक, धार्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक व ऐतिहासिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु अत्याधुनिक संरक्षण प्रयोगशाला की स्थापना, ऐसी सामग्री के संरक्षण हेतु उपयोग में लाई जाने वाली वैज्ञानिक विधियों एवं उपकरणों पर अनुसंधान तथा संरक्षण कार्य में संलग्न व्यक्तियों व संगठनों के अनुरोध पर उचित शुल्क पर उन्हें उपरोक्त सुविधाएं उपलब्ध कराना।<br />
+
'''4'''. पाण्डुलिपियों, पुरातात्विक महत्व की सामग्री, सामाजिक, धार्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक व ऐतिहासिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु अत्याधुनिक संरक्षण प्रयोगशाला की स्थापना, ऐसी सामग्री के संरक्षण हेतु उपयोग में लाई जाने वाली वैज्ञानिक विधियों एवं उपकरणों पर अनुसंधान तथा संरक्षण कार्य में संलग्न व्यक्तियों व संगठनों के अनुरोध पर उचित शुल्क पर उन्हें उपरोक्त सुविधाएं उपलब्ध कराना।<br />
5. पुरातात्विक व सांस्कृतिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु ज्ञान के प्रसार के लिये केन्द्र स्थापित करना, प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाना तथा प्रकाशन।<br />
+
'''5'''. पुरातात्विक व सांस्कृतिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु ज्ञान के प्रसार के लिये केन्द्र स्थापित करना, प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाना तथा प्रकाशन।<br />
6. कैटलॉग तथा महत्वपूर्ण मूलपाठ के समीक्षात्मक संस्करणों, अनुसंधान कार्यों के परिणामों व अन्य उपयोगी पुस्तकों का प्रकाशन।<br />
+
'''6'''. कैटलॉग तथा महत्वपूर्ण मूलपाठ के समीक्षात्मक संस्करणों, अनुसंधान कार्यों के परिणामों व अन्य उपयोगी पुस्तकों का प्रकाशन।<br />
7. संस्कृत, हिन्दी, कला, साहित्य, समाज शास्त्र तथा भारतीय ज्ञान, विशेषतः ब्रज क्षेत्र से संबंधित के अध्ययन एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन।<br />
+
'''7'''. संस्कृत, हिन्दी, कला, साहित्य, समाज शास्त्र तथा भारतीय ज्ञान, विशेषतः ब्रज क्षेत्र से संबंधित के अध्ययन एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन।<br />
8. उपरोक्त उद्देश्यों की पूर्ति हेतु विश्वविद्यालयों, संग्रहालयों पुस्तकालयों एवं अन्य भारतीय शैक्षिक संस्थानों से सहयोग।<br />
+
'''8'''. उपरोक्त उद्देश्यों की पूर्ति हेतु विश्वविद्यालयों, संग्रहालयों पुस्तकालयों एवं अन्य भारतीय शैक्षिक संस्थानों से सहयोग।<br />
9. व्याख्यानों, प्रदर्शनियों, सम्मेलनों व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन, ब्रज की कला, संस्कृति व साहित्य के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार से जुड़े विद्वानों व लेखकों को शोधवृत्ति व पुरूस्कार प्रदान कराना।<br />
+
'''9'''. व्याख्यानों, प्रदर्शनियों, सम्मेलनों व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन, ब्रज की कला, संस्कृति व साहित्य के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार से जुड़े विद्वानों व लेखकों को शोधवृत्ति व पुरूस्कार प्रदान कराना।<br />
10. ब्रज भाषा-अंग्रेज़ी शब्दकोष के प्रकाशन का प्रस्ताव।<br />
+
'''10'''. ब्रज भाषा-अंग्रेज़ी शब्दकोष के प्रकाशन का प्रस्ताव।<br />
11. सांस्कृतिक जन चेतना जागृत करने के उद्देश्य से इन्टर्नशिप कार्यक्रम।<br />
+
'''11'''. सांस्कृतिक जन चेतना जागृत करने के उद्देश्य से इन्टर्नशिप कार्यक्रम।<br />
12. आधुनिकतम सूचना उपकरणों पर संग्रह के विषय में जानकारी उपलब्ध कराना।<br />
+
'''12'''. आधुनिकतम सूचना उपकरणों पर संग्रह के विषय में जानकारी उपलब्ध कराना।<br />
[[Category:कवि]]
+
[[Category:उद्देश्य]]
 
__INDEX__
 
__INDEX__

12:46, 22 जुलाई 2015 का अवतरण

1. हिन्दी, संस्कृत तथा अन्य भाषाओं की पाण्डुलिपियों का संग्रहण, संरक्षण एवं अध्ययन, विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति, साहित्य एवं इतिहास से संबंधित।न शोध संस्थान की स्थापना हुई।
2. विलुप्त एवं नष्ट होती हुई सांस्कृतिक विरासत जिसमें पाण्डुलिपियाँ, पुरातात्विक सामग्री, कलाकृतियाँ सम्मिलित हैं (विशेषतः ब्रज क्षेत्र की) को बचाना।
3. भारतीय विशेषतः ब्रज क्षेत्र की कला, संस्कृति एवं इतिहास में अनुसंधान को प्रोत्साहन।
4. पाण्डुलिपियों, पुरातात्विक महत्व की सामग्री, सामाजिक, धार्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक व ऐतिहासिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु अत्याधुनिक संरक्षण प्रयोगशाला की स्थापना, ऐसी सामग्री के संरक्षण हेतु उपयोग में लाई जाने वाली वैज्ञानिक विधियों एवं उपकरणों पर अनुसंधान तथा संरक्षण कार्य में संलग्न व्यक्तियों व संगठनों के अनुरोध पर उचित शुल्क पर उन्हें उपरोक्त सुविधाएं उपलब्ध कराना।
5. पुरातात्विक व सांस्कृतिक महत्व की सामग्री के संरक्षण हेतु ज्ञान के प्रसार के लिये केन्द्र स्थापित करना, प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाना तथा प्रकाशन।
6. कैटलॉग तथा महत्वपूर्ण मूलपाठ के समीक्षात्मक संस्करणों, अनुसंधान कार्यों के परिणामों व अन्य उपयोगी पुस्तकों का प्रकाशन।
7. संस्कृत, हिन्दी, कला, साहित्य, समाज शास्त्र तथा भारतीय ज्ञान, विशेषतः ब्रज क्षेत्र से संबंधित के अध्ययन एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन।
8. उपरोक्त उद्देश्यों की पूर्ति हेतु विश्वविद्यालयों, संग्रहालयों पुस्तकालयों एवं अन्य भारतीय शैक्षिक संस्थानों से सहयोग।
9. व्याख्यानों, प्रदर्शनियों, सम्मेलनों व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन, ब्रज की कला, संस्कृति व साहित्य के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार से जुड़े विद्वानों व लेखकों को शोधवृत्ति व पुरूस्कार प्रदान कराना।
10. ब्रज भाषा-अंग्रेज़ी शब्दकोष के प्रकाशन का प्रस्ताव।
11. सांस्कृतिक जन चेतना जागृत करने के उद्देश्य से इन्टर्नशिप कार्यक्रम।
12. आधुनिकतम सूचना उपकरणों पर संग्रह के विषय में जानकारी उपलब्ध कराना।